पेड न्यूज व विज्ञापन प्रमाणीकरण के संबंध में बैठक आयोजित, केबल ऑपरेटरों तथा प्रिटिंग प्रेस संचालकों को दी प्रावधानों की जानकारी (विधानसभा निर्वाचन-2018)


कटनी (8 अक्टूबर)- कलेक्ट्रेट सभागार में सोमवार को जिले के प्रिन्टिंग प्रेस व केबल ऑपरेटर्स की बैठक का आयोजन हुआ। जिला निर्वाचन अधिकारी केवीएस चौधरी ने बैठक में केबल नेटवर्क विनियमन अधिनियम 1995 तथा प्रिटिंग प्रेस संचालकों को लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127 (क) के तहत पैम्पलेट, पोस्टर आदि के मुद्रण पर प्रतिबंध संबंधी प्रावधानों की जानकारी दी गई। इस अवसर पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी आर0 उमा माहेश्वरी भी उपस्थित रहीं।
            बैठक में उपस्थित जिले के केबल ऑपरेटर तथा प्रिटिंग प्रेस के संचालकों को जानकारी देते हुये जिला निर्वाचन अधिकारी श्री चौधरी ने बताया कि केबल ऑपरेटर्स को स्थानीय केबल नेटवर्क पर विज्ञापन प्रसारित करने से पूर्व यह सुनिश्चित कर लें कि जिलास्तरीय एमसीएमसी कमेटी द्वारा विज्ञापन का प्रमाणीकरण किया गया हो। विज्ञापन प्रमाणीकरण के लिए जिला स्तरीय मीडिया प्रमाणन एवं अनुवीक्षण समिति गठित की गई है। कमेटी में जिला निर्वाचन अधिकारी समिति के अध्यक्ष हैं तथा समिति में सभी रिटर्निंग अधिकारी सदस्य बनाए गए हैं।
            श्री चौधरी ने उन्होंने बताया कि समिति द्वारा विज्ञापन के प्रमाणीकरण के साथ ही पेड न्यूज की मॉनिटरिंग की जाएगी। विज्ञापन प्रमाणीकरण तथा पेड न्यूज संबंधी विस्तार से जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि पेड न्यूज खबर की आड़ विज्ञापन ही है। भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार एमसीएमसी द्वारा पेड न्यूज की मॉनिटरिंग की जाएगी। पेड न्यूज का मामला होने पर खर्च अभ्यर्थी के खाते में जोड़ा जाएगा।
             केबल टेलीविजन नेटवर्क अधिनियम 1995 के प्रावधानों से बैठक में अवगत कराया। उन्होंने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थियों को विज्ञापन प्रसारण की प्रारंभ की प्रस्तावित तिथि से कम से कम तीन दिन पूर्व व गैर रजिस्ट्रीकृत दल या अन्य व्यक्ति के मामले में प्रसार की तारीख से कम से कम 7 दिन पूर्व विज्ञापन प्रमाणीकरण के लिए आवेदन एमसीएमसी के समक्ष करना होगा।
            इस दौरान जिले के प्रिन्टिंग प्रेस व फ्लैक्स प्रिन्टर्स के संचालकों को जिला निर्वाचन अधिकारी केवीएस चौधरी ने बताया लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1951 की धारा 127 में उपबंधित किया गया है कि कोई भी व्यक्ति किसी निर्वाचन पैम्पलेट, पोस्टर आदि का मुद्रण नहीं करेगा अथवा न ही करवाएगा। प्रकाशक की पहचान की घोषणा उनके द्वारा हस्ताक्षरित तथा दो व्यक्ति जो उन्हे व्यक्तिगत रूप से जानते हों, द्वारा सत्यापित होने के बाद ही सामग्री का प्रकाशन करें। साथ ही उसमें प्रिन्ट की जाने वाली सामग्री की संख्या को भी मुद्रित करें। दस्तावेज़ के मुद्रण के पश्चात निर्धारित समयावधि में मुद्रक द्वारा प्रकाशित सामग्री की प्रति के साथ प्रकाशक से प्राप्त घोषणा की एक प्रति भेजने के निर्देश जिला निर्वाचन अधिकारी श्री चौधरी ने दिये।

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.